Chhattisgarh Latest News in Hindi | Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News
Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News

EXCLUSIVE- शक्ति एप में गलत तरीके से मेंबर जोड़ने का खुलासा,पूरे प्रदेश में मुफ्त बैलेंस का लालच देकर शक्ति एप में मेंबर जोड़ने की आशंका,सवालों में कांग्रेस नेता

बिलासपुर-प्रवीण सोनी

Spread the news

बिलासपुर- पिछले दो महीनों से छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सक्रिय दिखाई दे रही है..राहुल गांधी और उनकी टीम लगातार प्रदेश में कांग्रेस नेताओं के संपर्क में रह रहे हैं..बावजूद इसके कांग्रेस के कुछ नेता आलाकमान की आंखों में धूल झोंकने का काम कर रहे हैं..विधायक की टिकट पाने और राहुल गांधी से मिलने के लिए इन दिनों कांग्रेस के नेताओं ने नया तरीका इजाद किया..शक्ति एप को माध्यम बनाकर नेताओं ने दिल्ली में अपने नंबर तो बढ़ा लिए लेकिन ये नहीं सोचा इससे पार्टी का क्या होगा..दरअसल शक्ति एप के जरिए कांग्रेस अपने मेंबर्स बढ़ा रही है…इस एप में जुड़ने से कार्यकर्ता सीधे राहुल गांधी से संवाद कर सकते हैं..साथ ही साथ जो भी कांग्रेस का कार्यकर्ता एप के जरिए अपने मेंबर्स बढ़ाएगा उसे खुद राहुल गांधी सम्मानित भी करते हैं..लिहाजा कांग्रेस के एक नेता ने थोक के भाव सिम खरीदकर उसे गांवों में पहुंचाया, लोगों को अंधेरे में रखकर ये कहा कि सिम में उनको फ्री बैलेंस दिया जा रहा है..गांववाले नेताजी की बातों में आ गए और अपना वोटर आईडी और आधार आसानी से सिम के लिए दे दिया..देखें वीडियो

यहीं शुरु हुआ असली खेल..ये नंबर पहले से ही शक्ति एप से जुड़े हुए थे..और आधार लिंक करते ही ग्रामीण कांग्रेस के मेंबर बनते गए..ग्रामीणों के फोन पर बकायदा शक्ति एप के जरिए कांग्रेस का मेंबर बनने का संदेश भी आया..जब इस बात की जानकारी लाइव छत्तीसगढ़ को लगी तो हमारी टीम ने मौके पर जाकर पड़ताल किया…पड़ताल करने के बाद ज्यादातर ग्रामीणों ने खुद को कांग्रेस का मेंबर नहीं बताया लेकिन जब उनके फोन को देखा गया तो वे शक्ति एप से जुड़े हुए थे..आपको बता दें कि ग्रामीणों ने जिस कांग्रेस नेता का नाम लिया वो बिलासपुर निवासी पिनाल उपवेजा हैं..पिनाल तेज तर्रार युवा नेता हैं और बेलतरा विधानसभा से टिकट की मांग कर रहे हैं..ग्रामीणों की मानें तो पिनाल ने ही सिम कार्ड उपलब्ध कराए हैं..पहले तो ग्रामीण समझ नहीं पाए कि माजरा क्या है..लेकिन जब उपवेजा जी को दिल्ली में मेंबर बनाने पर सम्मान मिला तो सारा खेल समझ में आ गया..

- Advertisement -

पूरे प्रदेश में फर्जीवाड़े की आशंका

अब जब ग्रामीणों ने किसी भी पार्टी के मेंबर होने से इंकार किया है, ऐसे में छत्तीसगढ़ कांग्रेस चुनाव में कैसे इन लोगों को अपने पाले में लाएगी..क्योंकि पार्टी से जोड़ने की बुनियाद झूठ की नींव पर खड़ी है..और झूठ तो आखिर झूठ होता है..क्योंकि ऐसा सिर्फ एक विधानसभा का मामला नहीं है..पूरे प्रदेश में शक्ति एप से मेंबर बनाने और टिकट पाने की जुगत में और भी कांग्रेस के नेताओं ने इसी तरह से भोले भाले ग्रामीणोें को मुफ्त में सिम देकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंक ली हैं..हमारे पास और भी जगहों की खबरें हैं जहां पर कांग्रेस के नेताओं ने मुफ्त में सिम बांटकर लोगों को शक्ति एप का मेंबर बना डाला..जबकि हकीकत में न तो उन्हें कांग्रेस से मतलब था और न ही किसी तरह की राजनीतिक मदद से..वो तो सिर्फ मुफ्त सिम के चक्कर में अपना सारा डाटा दे बैंठे

Comments
Loading...