Chhattisgarh Latest News in Hindi | Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News
Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News

हिंदुस्तान यूनीलीवर का हुआ GSK का प्रसिद्ध ब्रांड हॉर्लिक्स,जीएसके की हिंदुस्तान लीवर में विलय की भी घोषणा

वेब डेस्क

Spread the news

मुंबई- 150 साल पुराने ब्रांड हॉर्लिक्‍स के सौदे का ऐलान हो गया। हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) ने जीएसके कंज्यूमर हैल्थकेयर से हॉर्लिक्स सहित उसके पूरे भारतीय बिजनेस को खरीदने की घोषणा कर दी है..चार महीनों की लंबी नीलामी प्रक्रिया और कई दौर के वार्ताओं के बाद ग्लोबल GSK कंपनियों के खिलाफ दौड़ में हिंदुस्तान यूनिलीवर ने अंततः Horlicks को खरीदा है।


HUL बोर्ड ने GSK कंज्यूमर इंडिया के साथ विलय योजना को मंजूरी दे दी है, जिसके तहत दोनों कंपनियां विलय हो जाएंगी। आपको बता दें कि ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन के भारत में लोकप्रिय ब्रांडों में हॉर्लिक्स शामिल है. भारतीय कंज्यूमर गुड्स मार्केट की यह सबसे बड़ी डील है।

- Advertisement -

गौरतलब है कि हॉर्लिक्स प्रथम विश्वयुद्ध (1914-18) की समाप्ति के बाद ब्रिटिश आर्मी के साथ भारत आया था. ब्रिटिश इंडियन आर्मी के सैनिक इसे डायट सप्लीमेंट के तौर पर लिया करते थे. उसके बाद इस ब्रैंड की मार्केटिंग समृद्ध भारतीय परिवारों के पेय पदार्थ के रूप में किया गया और फिर इसे बच्चों के लिए जरूरी पोषण के तौर पर पेश किया जाने लगा.

ऐसे हुई हार्लिक्स की शुरुआत

वैसे तो हॉर्लिक्‍स यूके का प्रॉडक्‍ट है लेकिन इसकी सबसे ज्‍यादा बिक्री भारत में होती है। भारत में इसकी एंट्री दूसरे विश्‍व युद्ध के बाद हुई।इसे दो ब्रिटिश भाइयों विलियम हॉर्लिक और उनके भाई जेम्‍स ने अमेरिका में र्इजाद किया था। जेम्‍स एक केमिस्‍ट थे, जो ड्राई बेबी फूड बनाने वाली कंपनी के लिए काम करते थे। उनके छोटे भाई विलियम 1869 में अमेरिका आए थे। दोनों ने 1873 में मॉल्‍टेड मिल्‍क ड्रिंक बनाने वाली कंपनी J&W हॉर्लिक्‍स शुरू की। उन्‍होंने अपने प्रॉडक्‍ट को डायस्‍टॉइड नाम दिया। उनका स्‍लोगन था- हॉर्लिक का इन्‍फैंट और इनवैलिडट्स फूड। 5 जून 1883 को दोनों भाइयों ने अपने प्रॉडक्‍ट के लिक्विड में मिक्‍स हो जाने की योग्‍यता के लिए यूएस पेटेंट नंबर 278,967 हासिल कर लिया और पेटेंट पाने वाला पहला मॉल्‍टेड मिल्‍क प्रॉडक्‍ट बन गया।

Comments
Loading...