Chhattisgarh Latest News in Hindi | Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News
Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News

अपने ननिहाल में 21 बरसों से ताले में बंद हैं भगवान श्रीराम, जानें पूरी कहानी

Spread the news

रायपुर।अयोध्या में जहां रामलला मंदिर निर्माण की बाट जोह रहे हैं वहीं रायपुर से 30 किलोमीटर दूर अपने ननिहाल में भगवान राम पिछले 21 वर्षों से ताले में बंद हैं. दरअसल दो परिवारों के बीच आधिपत्य को लेकर चल रही लड़ाई के कारण यहां भगवान राम के मंदिर में ताला लगा हुआ है. दक्षिण कोसल की राजधानी आरंग के समीप लगभग चार हजार की आबादी वाले गांव चंदखुरी को अयोध्या के राजा दशरथ की सबसे बड़ी रानी कौशल्या का जन्मस्थल माना जाता है.एक समय 126 तालाब वाले इस गांव में जलसेन नामक जलाशय के मध्य टापू में कौशल्या माता का मंदिर है, जहां कौशल्या की गोद में भगवान राम विराजमान हैं. विश्व में कौशल्या माता का यह एकमात्र मंदिर है. माता कौशल्या का मायका होने के कारण इस गांव को भगवान राम का ननिहाल माना जाता है. गांव के मध्य में भगवान राम का मंदिर है जो पिछले 21 वर्षों से बंद है. इसकी वजह यहां दो परिवारों के बीच मंदिर के मालिकाना हक को लेकर चल रहा विवाद है.

- Advertisement -

गांव की सरपंच इंदु शर्मा ने बताया कि यहां के प्रतिष्ठित बैस परिवार ने इस मंदिर और जमीन पर दावा किया और मंदिर में कथित रूप से ताला लगा दिया. तब से यह मंदिर बंद है. उन्होंने बताया कि तब से लेकर अब तक इस मंदिर के हक के लिए परिवारों के मध्य लड़ाई चल रही है.सरपंच इंदु शर्मा चाहती हैं कि मंदिर का द्वार खोल दिया जाए जिससे गांव के लोग दर्शन कर सकें. इधर मंदिर को लेकर बैस परिवार का अलग दावा है. बैस परिवार के महेश बैस कहते हैं कि गांव में जब नायडू परिवार की मालगुजारी थी तब बैस परिवार ने उनकी पूरी जमीन खरीदी ली थी. जिसके साथ ही यह मंदिर भी बैस परिवार के हिस्से में आ गया. मंदिर लगभग तीन सौ साल पुराना है तथा मालगुजार नायडू ने इस मंदिर का जीर्णोद्धार वर्ष 1915 में कराया था. बैस परिवार के सदस्य श्याम बैस कहते हैं कि उनके परिवार के पास मंदिर आने के बाद भी पुजारी उपाध्याय का परिवार इस मंदिर में पूजा अर्चना करता था. लेकिन पुजारी की मृत्यु के बाद मंदिर में पूजा बंद हो गयी.मंदिर भी रख रखाव के अभाव में जीर्णशीर्ण हो गया और किसी अनहोनी से बचने के लिए मंदिर को बंद करना पड़ा. मंदिर की जमीन भगवान राम के नाम पर है.

 

Comments
Loading...