Chhattisgarh Latest News in Hindi | Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News
Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News

इस विलेन के 12 महिलाओं के साथ थे संबंध, अंतिम समय में पेट में नहीं था एक दाना

Spread the news

मुंबई. गुजरे जमाने के पॉपुलर विलेन महेश आनंद अब हमारे बीच नहीं हैं। शनिवार को उनकी लाश उनके यारी रोड घर से बरामद की गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उनकी मौत नेचुरल बताई गई है। आखिरी वक्त में उन्होंने ट्रैक सूट पहना हुआ था और उनके पास अल्कोहल भी पाई गई। लेकिन सबसे दर्दनाक बात यह है कि मरने के बाद भी महेश का संघर्ष खत्म नहीं हुआ। जिस बेटे के लिए वे तमाम उम्र तरसते रहे, वह उनके मरने के बाद बॉडी तक क्लैम करने नहीं आया।
बहन ने किया अंतिम संस्कार
जब महेश आनंद की मौत हुई, तब वे घर में अकेले ही थे। लंबे समय से वे अकेलेपन में जी रहे थे। किसी फैमिली मेंबर ने उनकी सुध नहीं ली। जबकि उनका एक बेटा है त्रिशूल आनंद। एक्ट्रेस साहिला चड्ढा ने बताया, “यह बहुत ही निराशाजनक है कि पहली बार में कोई महेश आनंद की बॉडी को क्लैम करने तक नहीं आया। अगर आखिर तक कोई नहीं आता तो मैंने कुछ दोस्तों के साथ बॉडी को क्लैम करने का फैसला लिया था। शुक्र है कि उनकी एक बहन ने आकर बॉडी क्लैम की और अंतिम अंतिम संस्कार ओशिवारा श्मशान भूमि पर कर दिया।” साहिला का कहना है कि महेश बहुत अच्छे इंसान थे। पत्नी के साथ उनके संबंध अच्छे नहीं थे। रिपोर्ट्स में यह कहा जा रहा है कि महेश ने 5 शादियां की थीं, लेकिन हकीकत यह है कि उनके संबंध 12 महिलाओं से थे। कुछ से उन्होंने शादी की थी तो कुछ के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहे।

डिप्रेशन से जूझ रहे थे महेश आनंद

  • एक अखबार से खास बातचीत में प्रोड्यूसर पहलाज निहलानी ने कहा, “महेश ने मेरे साथ कई फिल्मों में काम किया था। पिछले साल उसने मुझे फोन किया और कहा कि क्या मैं उन्हें किसी फिल्म में साइन कर सकता हूं। मैंने कहा कि मैं उसके लिए कैरेक्टर क्रिएट करूंगा। हमने साथ-साथ 7 दिन तक शूट रंगीला राजा के लिए किया। वह बहुत खुश था।” पहलाज ने आगे कहा कि महेश डिप्रेशन में थे। वे अकेलेपन और डिप्रेशन से लड़ने के लिए शराब का सहारा लेते थे। पहलाज की मानें तो उन्होंने महेश से बात कर उन्हें डिप्रेशन से निकालने की कोशिश की थी, लेकिन सफल नहीं हो सके।

पिछले साल की थी कलाई काटने की कोशिश-

  • महेश आनंद गहरे डिप्रेशन में थे। पिछले साल फेसबुक पर फैन्स से बातचीत के दौरान उन्होंने कलाई काटकर आत्महत्या करने की धमकी दी थी। लेकिन जल्दी ही यह खबर CINTAA के पास पहुंच गई। CINTAA की मेंबर नूपुर अलंकार तुरंत महेश आनंद के पास पहुंचीं और उन्हें आत्महत्या करने से रोक लिया। वे कहती हैं, “मैंने महेश से करीब 50 मिनट तक बात की और उन्हें पुलिस के आने तक व्यस्त रखा। थैंकफुली, वे कलाई नहीं काट पाए थे। वे डिप्रेशन में थे। वे यह तक नहीं जानते थे कि आखिर CINTAA (सिने एंड टेलीविज़न आर्टिस्ट्स एसोसिएशन) है क्या?” इस बीच ट्रेड एनालिस्ट नरेंद्र गुप्ता ने बताया कि वे टीवी पर शक्तिमान की तर्ज पर सुपरहीरो शो प्रोड्यूस करना चाहते थे। लेकिन प्रोजेक्ट किसी वजह से आगे नहीं बढ़ पाया।
LiveCG – Banner Samvad
Comments
Loading...