Chhattisgarh Latest News in Hindi | Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News
Live Chhattisgarh | Chhattisgarh News

छत्तीसगढ़ की इन जगहों पर आज भी भटक रहीं हैं आत्माएं!

जानें छत्तीसगढ़ में कहां मौजूद हैं भूतिया जगहें?

Spread the news

Y शेप ब्रिज भिलाई

भिलाई में वाय शेप ब्रिज का निर्माण होने के बाद ट्रैफिक काफी कम हो गया, लेकिन ये जगह एक भूतिया जगह भी है, जी हां कहते हैं कि इस ब्रिज के निर्माण के समय यहां कुछ काम कर रहे मजदूरों की हादसे में मौत हो गई थी,जिनकी मृत आत्माएं आज भी यहां भटकती हैं. रात के 12 बजे से 4 बजे तक ये रास्ता काफी खतरनाक हो जाता है.रात के 12 बजे के बाद यहां लोगों ने कई अजीबो-गरीब घटनाओं को घटते देखा है, कुछ लोग सड़कों पर नजर आते हैं, और कुछ समय के बाद ही घायब भी हो जाते हैं, वहीं कुछ लोगों ने इस ब्रिज के पास महिलाओं को भटकते देखा है.तो अब जब भी आप इस ब्रिज से गुजरे तो इस बात का ख्याल रखें.

गैरेज रोड,32 बंगला

- Advertisement -

गैरेज रोड 2 से 3 किमी का लंबा रास्ता है, लोगों को दावा है कि रात के समय ये रास्ता भूतिया रास्ते में बदल जाता है,कहते हैं रात के समय इस रास्ते से गुजरने वाली वाहन चालकों से एक महिला लिफ्ट मांगती है, लिफ्ट मिलने पर वो पीछे बैठ जाती है.जब वाहन चालक पीछे मुड़ कर उसकी तरफ देखता है या फिर उससे कोई सवाल पूछता है तो वो गायब हो जाती है.इस रास्ते से गुजरने वाले कई लोगों ने ऐसी घटनाओं की पुष्टि की है,तो अब जब कभी आप इस रास्ते से गुजरें और कोई महिला आपसे लिफ्ट मांगे तो थोड़ा सावधान रहें.

तारबहार रेलवे क्रासिंग

साल 2011 में तारबहार रेलवे क्रासिंग में एक रेल हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई थी. कहते हैं तब से ये जगह भूतिया जगहों में शुमार हो गई है,रात के समय इस रास्ते से जाने वाले लोगों ने रेल की पटरियों पर कई लोगों को चलते देखा है, इतना ही नहीं लोगों का दावा है कि उन लोगों के ऊपर से ट्रेन गुजरने पर भी उन्हें कुछ नहीं हुई.आस पास के लोगों का कहना है कि हादसे में मारे गए लोगों की आत्माएं आज भी इस जगह पर भटकती हैं, कई लोगों ने रेलवे ट्रेक पर डेड बॉडी देखने का दावा भी किया है.

हॉन्टेड हाउस जगदलपुर

हॉन्टेड हाउस,जगदलपुर में बना एक घर है, इस घर के बारे में कहा जाता है कि जो भी इस घर में जाता है वो जिंदा वापस नहीं आता,इस घर में कई लोग गए लेकिन वापस नहीं आए, इस घर में जाने वाले लोग सड़क हादसों का शिकार होकर काल के गाल में समा गए, कहते हैं कई परिवार इस घर में रहने के लिए गए लेकिन कुछ ही दिनों में परेशान होकर लोगों ने घर को छोड़ दिया.

Comments
Loading...